कमज़ोर /अन्तोन चेख़व

आज मैं अपने बच्चों की अध्यापिका यूल्या वसिल्येव्ना का हिसाब चुकता करना चाहता था। “बैठ जाओ यूल्या वसिल्येव्ना।” मैंने उससे कहा, “तुम्हारा हिसाब…

Read More

दाम्पत्य जीवन और शक की छाया/मंजु त्यागी

दाम्पत्य जीवन में सामंजस्य आवश्यक है। सामान्य जीवन में शक, हीनता, श्रेष्ठता या अहम् की भावना को स्थान नहीं होना चाहिए। यह भावनाएं…

Read More

राजमहेंद्रवरम में प्रो. ऋषभदेव शर्मा का षष्ठिपूर्ति समारोह संपन्न

  हैदराबाद. यहाँ आदित्य डिग्री  कॉलेज, राजमहेंद्रवरम  के सभाकक्ष में महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा के अधिष्ठाता प्रो. देवराज की अध्यक्षता में…

Read More